Month: January 2021

Ahimsa param dharm hai

“अहिंसा ही परम धर्म है” “अहिंसा ही परम धर्म है”   मानव जीव अति दुर्लभ है । पुण्य कर्मों से हमें यह मानव जीवन प्राप्त हुआ है इस मनुष्य जीवन का सदुपयोग करते हुए मानव जीवन में अपने भीतर सदा सेवा भावना रखनी चाहिए । भगवान महावीर ने “जिओ और जीने दो” का जो अहिंसा …

Ahimsa param dharm hai Read More »

संतोष ही वास्तविक खुशी (Authentic Happiness )

संतोष ही वास्तविक खुशी है रिश्ते-नाते, आभुषणों में खुशी को हमने कभी पाया होगा, घुमने फिरने, मोज मस्ती में खुशी को हमने थोड़ा ढ़ुंढा होगा। सब है फिर भी सुकुन नहीं, इस वास्तविक खुशी का राज क्या होगा? कैसे रहे हम हर पल-हर क्षण खुश, आज हमें मिलकर सोचना होगा।।   खुशी.. खुशी का नाम …

संतोष ही वास्तविक खुशी (Authentic Happiness ) Read More »

स्वार्थी नहीं, परोपकारी बने

स्वार्थी नहीं, परोपकारी बने स्वार्थी नहीं, परोपकारी बने   स्वार्थी नहीं, परोपकारी बने   21 वीं सदी में, एक उदार एवं परोपकारी व्यक्ति को खोजना मुश्किल है, लेकिन प्रकाश की एक किरण हमेशा अंधेरे के आसपास मौजूद होती है। यह सच है कि अपनी भलाई के बारे में तो हर कोई सोचता है। लेकिन महान …

स्वार्थी नहीं, परोपकारी बने Read More »